1. Home
  2. भारत
  3. राष्ट्रीय
  4. वायुसेना के जांबाजों ने लिखा नया...

वायुसेना के जांबाजों ने लिखा नया इतिहास, चीन-पाकिस्तान रह गए दंग

इससे पहले ऐसा नहीं हुआ था कि एक बार में 17 फाइटर और कार्गो प्लेन की एक्सप्रेसवे पर लैंडिंग करवाई गई हो लेकिन आज ना सिर्फ लैंडिंग हुई बल्कि टेकऑफ भी करवाया गया और इसी के साथ एयरफोर्स ने नया कीर्तिमान रच दिया।

Written by: India TV News Desk 24 Oct 2017, 13:14:25 IST
India TV News Desk

नई दिल्ली: आज एक्सप्रेस-वे पर रण-वे की एक ऐसी इबारत लिखी गई जिसे देख दुश्मन दंग रह गए। भारतीय वायुसेना की ऐतिहासिक शौर्यगाथ में एक और कड़ी आज उस वक्त जुड़ी जब आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर आसमान के सिकंदर जमीन पर उतरे। मिराज, सुखोई और जगुआर जैसे इंडियन एयर फ़ोर्स के 17 लड़ाकू विमान एक्सप्रेसवे पर अपनी कलाबाजी दिखाकर एक तरफ जहां देश का दिल जीत लिया वहीं ड्रैगन को हैरान और पाकिस्तान को परेशान कर दिया।

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे पर सुबह से ही हजारों निगाहें आसमान पर लगी थीं। हर नजर भारत का सीना चौड़ा करने वाले उन फाइटर जेट्स को ढूंढ रही थी जो एक्सप्रेसवे पर लैंडिंग और टचडाउन करने वाले थे। सुबह के 10 बजते ही धुंध के बीच रौशनी चमकी और गरजते हुए फाइटर प्लेन एक एक करके धरती को सलामी देने लगे। शुरुआत हुई हरक्यूलिस सी-130 से। दुनिया के सबसे बड़े कार्गो प्लेन ने एक्सप्रेसवे पर ड्रीम लैंडिंग की। प्लेन के लैंड करते ही अंदर से गरुड़ कमांडो पूरे साजो-सामान के साथ उतरे। इसके बाद बारी आई फ्रांस में बने मिराज 2000 की।

करगिल युद्ध में पाकिस्तान के छक्के छुड़ाने वाले मिराज 2000 ने एक्सप्रेस वे पर शानदार तरीके से टचडाउन किया। वायुसेना का मिराज 2000 फाइटर जेट अचानक तेज आवाज करता हुआ आसमान में मंडराने लगा। विमान तेजी से नीचे आया और जमीन को बस छूने से पहले ही फिर से हवा में उड़ गया। 2500 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ान भरने वाला मिराज जब गर्जना के साथ एक्सप्रेसवे पर टचडाउन कर रहा था तो वायुसेना की ताकत देखकर हर किसी का सीना चौड़ा हो रहा था। इस एक्सरसाइज में 6 मिराज विमानों ने हिस्सा लिया।

मिराज के बाद बारी आई जगुआर की। जगुआर की सबसे बड़ी ताकत ये है कि ये बेहद कम ऊंचाई पर उड़ान भर सकता है और रडार की नजर में नहीं आता है। दुश्मन के एरिया में काफी अंदर तक जाकर हमला करने में बेहद सक्षम जगुआर ने जब एक्सप्रेसवे पर टचडाउन किया तो पूरा माहौल उसकी दहाड़ से गूंज उठा। इसके बाद बारी आई सुखोई की।

3 के ग्रुप में सुखोई विमान हवा में धुएं का गुबार छोड़ते हुए निकल गए। सुखोई-30 एमकेआई दुनिया के सबसे घातक विमानों में शुमार है जिसकी अधिकतम स्पीड 2100 किमी/घंटा है। सुखोई ने पिछले साल भी इसी एक्सप्रेसवे पर टचडाउन एक्सरसाइज की थी और आज एक बार फिर उसी कामयाबी से सुखोई ने वायुसेना की ताकत दिखाई।

इससे पहले ऐसा नहीं हुआ था कि एक बार में 17 फाइटर और कार्गो प्लेन की एक्सप्रेसवे पर लैंडिंग करवाई गई हो लेकिन आज ना सिर्फ लैंडिंग हुई बल्कि टेकऑफ भी करवाया गया और इसी के साथ एयरफोर्स ने नया कीर्तिमान रच दिया।

अगले स्लाइड्स में देखें टचडाउन की तस्वीरें.....