1. Home
  2. भारत
  3. राष्ट्रीय
  4. बाबा और हनीप्रीत के रिश्ते में...

बाबा और हनीप्रीत के रिश्ते में दरार, सरकारी गवाह बन देगी राम रहीम के खिलाफ़ गवाही

अगर हनीप्रीत डेरे का काम संभालेगी तो उसकी जान को भी खतरा बना रहेगा। राम रहीम के परिवार वाले भी हनीप्रीत के लिए मुश्किलें पैदा करेंगे। मतलब ये कि हनीप्रीत के जेल से बाहर आने के साथ ही उसकी परेशानियां बढ़ जाएगी इसलिए परिवारवाले चाहते हैं कि हनीप्रीत सर

Written by: India TV News Desk 17 Nov 2017, 13:00:22 IST
India TV News Desk

नई दिल्ली: बलात्कारी बाबा राम रहीम की चेली हनीप्रीत के बारे में एक हैरतअंगेज खबर आई है जिसे सुनकर आप दंग रह जाएंगे। सोशल मीडिया में दावा किया जा रहा है कि हनीप्रीत ने राम रहीम को धोखा दे दिया है और वो राम रहीम के खिलाफ सरकारी गवाह बन सकती है। दावा ये भी किया जा रहा है कि हनीप्रीत पुलिस और कोर्ट के चक्कर से तंग आ चुकी है। वो जेल की जिंदगी से परेशान है और उसकी हिम्मत ने जवाब दे दिया है। वो इस मुसीबत से खुद को अलग करना चाहती है और राम रहीम से सारे रिश्ते खत्म करके डेरे से अगल हो जाना चाहती है।

सोशल मीडिया में बताया जा रहा है कि हनीप्रीत पर परिवारवालों को दबाव है। ये लोग हनीप्रीत को ये समझाने की कोशिश कर रहे हैं कि राम रहीम जेल चला गया है और वो अब अकेली रह गई है। उसकी मदद करने वाला कोई नहीं है इसलिए वो सरकारी गवाह बन जाए और इस मुसीबत से खुद को बचा ले। परिवार वाले हनीप्रीत को समझा रहे हैं कि राम रहीम बलात्कार के जुर्म में 20 साल के लिए जेल चला गया है। उस पर मर्डर का मामला चल रहा है जिसका फैसला अगर राम रहीम के खिलाफ जाता है तो उसके बाहर आने की सारे संभावनाएं खत्म हो जाएगी। हनीप्रीत बिल्कुल अकेली पड़ जाएगी और राम रहीम के दुश्मनों की भी कमी नहीं है।

अगर हनीप्रीत डेरे का काम संभालेगी तो उसकी जान को भी खतरा बना रहेगा। राम रहीम के परिवार वाले भी हनीप्रीत के लिए मुश्किलें पैदा करेंगे। मतलब ये कि हनीप्रीत के जेल से बाहर आने के साथ ही उसकी परेशानियां बढ़ जाएगी इसलिए परिवारवाले चाहते हैं कि हनीप्रीत सरकारी गवाह बन जाए और खुद को डेरे से अलग कर ले। वायरल खबर के मुताबिक हनीप्रीत इतनी अकेली महसूस कर रही है कि राम रहीम से रिश्ते तोड़ कर अलग होना चाहती है। पुलिस और कानून के चक्कर से दूर शांति से जीना चाहती है।

सोशल मीडिया के दावे हैरान करने वाले हैं। इसमें कोई शक नहीं है कि हनीप्रीत पर मुसीबत का पहाड़ टूटा है। वो राम रहीम की सनक की वजह से गुनाहगार बन गई। बलात्कारी राम रहीम के घमंड की वजह से वो देशद्रोह की आरोपी बन गई। उसने कभी सपने में भी नहीं सोचा होगा कि उसे राम रहीम की वजह से जेल जाना पड़ सकता है। ये भी सच है कि बलात्कारी बाबा अगर डेरे का मालिक था तो हनीप्रीत बेशक डेरे की मल्लिका थी। राम रहीम के साम्राज्य में हनीप्रीत का ही सिक्का चलता था तो क्या जेल की जिंदगी से वो इतनी टूट गई कि हनीप्रीत ने बेवफाई करने को मजबूर हो गई।

हरियाणा पुलिस ने हनीप्रीत पर पंचकूला हिंसा और राम रहीम को भगा ले जाने की साजिश का इल्ज़ाम लगाया है। उस पर देशद्रोह जैसे गंभीर आरोप हैं। ऐसे मामलों में सजा के कड़े प्रावधान हैं। अगर ये आरोप कोर्ट में साबित हो जाते हैं तो हनीप्रीत को कई सालों तक जेल में रहना पड़ सकता है।

हनीप्रीत जिस परिस्थिति से गुजर रही है उसमें उसका सरकारी गवाह बनकर खुद को बचाने की कोशिश से इंकार नहीं किया जा सकता है। हनीप्रीत की जगह कोई भी दूसरा शख्स होता तो वो अब तक सरकारी गवाह बन चुका होता लेकिन हनीप्रीत और राम रहीम की नजदीकियों को देखते हुए सोशल मीडिया के दावों पर यकीन करना मुश्किल है। देखें वीडियो....