1. Home
  2. भारत
  3. राष्ट्रीय
  4. जवानों को श्रद्धांजलि के मुद्दे पर...

जवानों को श्रद्धांजलि के मुद्दे पर विपक्षी दलों का लोस से वाकआउट

Bhasha 30 Nov 2016, 13:09:15
Bhasha

नयी दिल्ली: कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस एवं वामदलों ने कल जम्मू कश्मीर में एक सैन्य शिविर पर आतंकवादियों के हमले में शहीद जवानों को आज लोकसभा की कार्यवाही शुरू होते ही श्रद्धांजलि देने की मांग की और सदन से वाकआउट किया। सरकार ने कहा कि विपक्ष को जवानों से जुड़े ऐसे संवेदनशील विषय पर राजनीति नहीं करनी चाहिए। लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कहा, मैं हमेशा ही ऐसा करती हूं। चूंकि अभी सेना का तलाशी अभियान जारी है, ऐसे में पूरी जानकारी प्राप्त होने के बाद ही श्रद्धांजलि दी जाएगी और इसे विवाद का विषय नहीं बनाया जाना चाहिए।

आज सदन की कार्यवाही शुरू होने पर सदन में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि जम्मू कश्मीर में आतंकी हमले में सेना के जवान शहीद हो गये। उन्हें श्रद्धांजलि दी जाए। कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस और वामदलों के सदस्यों ने जवानों को श्रद्धांजलि दिये जाने की मांग की। जब विपक्षी सदस्य यह मांग कर रहे थे तब सदन में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मौजूद थे। अध्यक्ष ने कहा कि वह हमेशा ही विभिन्न मौकों पर श्रद्धांजलि उल्लेख करती हैं। इस बारे में :जम्मू कश्मीर में सैन्य शिविर पर हमले पर: भी एक बार पूरी स्थिति स्पष्ट हो जाए, क्योंकि अभी वहां तलाशी अभियान चल रहा है, इसके बाद श्रद्धांजलि उल्लेख करेंगे। उन्होंने कहा, इसे विवाद का विषय नहीं बनाया जाना चाहिए। इस तरीके से इस विषय पर व्यवहार करना ठीक नहीं है, जवानों के विषय पर ऐसा नहीं किया जाना चाहिए। यह दुखद है।

हालांकि, कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में उनकी पार्टी के सदस्यों के साथ तृणमूल कांग्रेस और वामदलों के सदस्यों ने सदन से वाकआउट किया। विपक्षी सदस्य हालांकि कुछ ही मिनट बाद सदन में वापस लौट आए और नोटबंदी के मुद्दे को उठाते हुए अध्यक्ष के आसन के पास आकर नारेबाजी करने लगे। संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने कहा कि जो भी सीमा पर शहीद हुए हैं, उन सभी को श्रद्धांजलि, इस बात को ध्यान मैं रखा जाना चाहिए कि अभी वहां तलाशी अभियान जारी है। ऐसे में पूरी जानकारी आनी चाहिए। अनंत कुमार ने कहा कि यह कोई विवाद का विषय नहीं होना चाहिए। ऐसे संवेदनशील विषय पर विपक्ष को राजनीति नहीं करनी चाहिए।

गौरतलब है कि कल जम्मू के नागरोटा में पुलिसकर्मियों की वर्दी में आये आतंकवादियों ने एक सैन्य शिविर में घुसकर हमला कर दिया। जिसके बाद करीब 12 घंटे तक जवानों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ चली। मुठभेड़ में तीन आतंकवादी मारे गये। आतंकवादियों की गोलीबारी में सेना के दो मेजर समेत सात जवान शहीद हो गये।