1. Home
  2. भारत
  3. राष्ट्रीय
  4. 'हार्ट ऑफ एशिया' सम्मेलन में भारतीय...

'हार्ट ऑफ एशिया' सम्मेलन में भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करेंगे अरुण जेटली

Bhasha 30 Nov 2016, 19:23:15
Bhasha

नई दिल्ली: वित्त मंत्री अरुण जेटली शनिवार से शुरू हो रहे दो दिन के हार्ट ऑफ एशिया सम्मेलन में भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करेंगे। इसमें चीन, अमेरिका, रूस, ईरान और पाकिस्तान सहित 30 से अधिक देश भाग लेंगे। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज सम्मेलन में शरीक नहीं होंगी। वह अस्वस्थ हैं।

(देश-विदेश की बड़ी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें)

मुख्य सम्मेलन का उद्घाटन 4 दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और अफगान राष्ट्रपति अशरफ गनी संयुक्त रूप से करेंगे। अफगानिस्तान इसका स्थायी अध्यक्ष है जबकि भारत इस साल सह अध्यक्ष होने के नाते सम्मेलन का मेजबान है।

विदेश मंत्रालय में पीएआई (पाकिस्तान, अफगानिस्तान और ईरान) विभाग की अध्यक्षता करने वाले गोपाल बागले ने संवाददाताओं को बताया कि मंत्रीस्तरीय सम्मेलन की सह अध्यक्षता जेटली और अफगान विदेश मंत्री करेंगे।

सुषमा की किडनी खराब हो गई है और उनका इलाज चल रहा है लिहाजा विदेश मंत्रालय ने पिछले हफ्ते घोषणा की थी कि वह सम्मेलन में शरीक नहीं होंगी। अफगानिस्तान और इसके पड़ोसी देशों के बीच सुरक्षा, राजनीतिक और आर्थिक सहयोग बढ़ाने के लक्ष्य से यह मंच तैयार किया गया है।