1. Home
  2. भारत
  3. राष्ट्रीय
  4. ब्रिक्स सम्मेलन: मोदी, पुतिन की द्विपक्षीय...

ब्रिक्स सम्मेलन: मोदी, पुतिन की द्विपक्षीय वार्ता शुरू

Bhasha 15 Oct 2016, 12:57:50
Bhasha

बेनॉलियम (गोवा): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए यहां आए रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीच शनिवार को द्विपक्षीय वार्ता शुरू हो गई। उनकी यह वार्ता ब्रिक्स शिखर सम्मेलन के इतर हो रही है। दोनों नेताओं की मुलाकात वार्षिक भारत-रूस शिखर सम्मेलन का हिस्सा है, जिसके बाद दोनों देशों के बीच रक्षा, ऊर्जा तथा कृषि आधारित व्यावसायिक समझौतों पर हस्ताक्षर की उम्मीद जताई जा रही है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने कहा, "मोदी और पुतिन रक्षा, आतंकवाद से मुकाबले सहित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा करेंगे।"

इससे पहले पुतिन जब गोवा के डैबोलिम हवाईअड्डे पर पहुंचे तो उनका रेड कार्पेट पर स्वागत किया गया। इसके बाद मोदी ने ट्विटर पर उनका अभिवादन करते हुए लिखा, "भारत आपका स्वागत करता है राष्ट्रपति पुतिन। आपकी यात्रा फलदायी हो।" इससे पहले मोदी ने गोवा में ब्रिक्स शिखर सम्मेलन एवं बिम्सटेक विस्तारित बैठक के लिए यहां पहुंचने वाले सभी राष्ट्राध्यक्षों का सुबह ट्विटर के जरिए स्वागत किया। मोदी ने आज तड़के ट्वीट किया, राष्ट्रपति पुतिन, भारत आपका स्वागत करता है। आपकी भारत यात्रा फलदायी रहे। प्रधानमंत्री ने रूसी भाषा में इस ट्वीट को दोहराया।

मोदी ने ट्वीट के जरिए जुमा का भी स्वागत किया। उन्होंने कहा, दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति का हार्दिक स्वागत है। आगामी दिनों में फलदायी बातचीत का इंतजार है। मोदी ने भारतीय अंदाज में ट्वीट करते हुए ब्राजील के राष्ट्रपति का स्वागत किया। उन्होंने ट्वीट किया, राष्ट्रपति माइकल तेमेर नमस्ते। ब्रिक्स 2016 शिखर सम्मेलन के लिए भारत में आपका स्वागत है। राज्यपाल मृदुला सिन्हा, मुख्यमंत्री लक्ष्मीकांत पारसेकर एवं उप मुख्यमंत्री फ्रांसिस डिसूजा ने कल रात आईएनएस हंसा अड्डे पर प्रधानमंत्री मोदी की अगवानी की। उनका बाद में दक्षिण गोवा के बेनौलिम गांव स्थित रिसॉर्ट में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने स्वागत किया। 

पुतिन के साथ भारत दौरे पर रक्षा, ऊर्जा, व्यापार और उद्योग मंत्रालयों के शीर्ष अधिकारी भी आए हुए हैं।

मोदी और पुतिन वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कुडनकुलम परमाणु बिजली परियोजना (केएनपीपी) की तीसरी और चौथी इकाइयों की स्थापना के लिए शिलान्यास समारोह में भी हिस्सा लेंगे।

दोनों देशों के बीच इस पर एक समझौते की भी उम्मीद जताई जा रही है। रूस के एक अधिकारी ने शुक्रवार को आईएएनएस को बताया था कि इसकी घोषणा दोनों नेताओं की वार्ता समाप्त होने के बाद की जा सकती है।