1. Home
  2. सिनेमा
  3. बॉलीवुड
  4. 'Dear Zindagi' Movie Review: फिल्म सिखाएगी...

'Dear Zindagi' Movie Review: फिल्म सिखाएगी आखिर क्या है जिंदगी

India TV Entertainment Desk 25 Nov 2016, 15:17:06
India TV Entertainment Desk

इस दुनिया में शायद ही कोई ऐसा होगा जिसे अपनी जिंदगी में कोई परेशानी नहीं होगी। आज हर कोई किसी ने किसी चीज को लेकर परेशान हैं। बेशक कुछ लोगों को देखकर ऐसा लगता होगा कि उन्हें अपनी जिंदगी में कोई समस्या नहीं है, लेकिन जिंदगी जितनी आसान नजर आती है उतनी होती नहीं है। गौरी शिंदे के निर्देशन में बनी फिल्म 'डियर जिंदगी' भी एक लड़की कायरा (आलिया भट्ट) की जिंदगी के बारे में है। गौरी शिंदे ने 4 साल पहले फिल्म 'इंग्लिश विंग्लिश' से अपने निर्देशन करियर की शुरुआत की थी। यह श्रीदेवी की कमबैक फिल्म साबित हुई थी। यह फिल्म श्रीदेवी के बेहतरीन अभिनय के दम पर और गौरी शिंदे की शानदार कहानी की बदौलत बॉक्स ऑफिस सफल साबित हुई। अब एक बार फिर गौरी अपनी एक सोच के साथ 'डियर जिंदगी' के रूप में सबके सामने हैं। फिल्म में आलिया भट्ट, शाहरुख खान, कुणाल कपूर और अंगद बेदी अहम किरदारों को निभाते हुए नजर आ रहे हैं।

इसे भी पढ़े:-

कहानी:-

'डियर जिंदगी' की कहानी एक लड़की कायरा (आलिया भट्ट) के बारे में है। कायरा विदेश में सिनेमटॉग्राफी का कोर्स कर रही है और उसका सपना है कि एक दिन वह मेगा बजट में मल्टीस्टारर फिल्म को विदेश में शूट करे। लेकिन फिलहाल वह अपना कोर्स पूरा कर मुंबई आ गई है, जहां वह अपने दोस्तों के साथ रहती है। इन दिनों कायरा अपनी टीम के साथ कुछ ऐड फिल्में और डांस म्यूजिक को शूट कर रही है। कायर का परिवार गोवा में ही रहता है जिसमें उसकी मां, पिता और एक छोटा भाई है। लेकिन कुछ वजहों से वह बचपन से ही अपने परिवार से अलग रहने लगी है। इसी दौरान कायरा की मुलाकात एक फिल्ममेकर यजुवेंद्र सिंह (कुणाल कपूर) से होती है। वह कायरा को विदेश में फिल्म को शूट करने का ऑफर देता और कायरा इसके लिए हांमी भी भर देती। उसे लगता है कि उनका सपना अब पूरा होने जा रहा है। लेकिन तभी कुछ ऐसा हो जाता है कि यह फिल्म बन ही नई पाती इसके बाद ही कायरा, यजुवेंद्र से दूरियां बनाने लगी। इस दौरान कायरा के पिता उसे अपने दोस्त के नए होटल के ऐड शूट के लिए गोवा बुलाते हैं। यहां उसकी मुलाकात मनोचिकित्सक जहांगीर खान (शाहरुख खान) से होती है। उनसे मिलकर कायरा को लगता है कि उसे भी उनकी जरूरत है। इसके बाद फिल्म में यह देखना काफी रोमांचक होता है कि किस तरह जहांगीर, कायरा को जिंदगी जीने का तरीका सिखाते हैं। वह कायरा को अपनी नजरों से जिंदगी दिखाते हैं। जहांगीर, कायरा को खुश करने के लिए ऐसे क्या-क्या तरीके आजमाते हैं कि वह खुश रहने लगे।

अभिनय:-

आलिया भट्ट ने 2012 में आई फिल्म स्टूडेंड ऑफ द इयर से अपने अभिनय की शुरुआत की थी। उन्होंने फिल्मों में अपने शानदार अभिनय से काफी कम वक्त में इंडस्ट्री में  अपनी एक खास जगह बना ली है। आज आलिया का नाम बॉलीवुड की बेहतरीन अदाकारओं में लिया जाता है। इस फिल्म में भी उन्होंने अपने अभिनय का दम दिखाने में कोई कमी नहीं छोड़ी है। वहीं डॉक्टर जहांगीर के किरदार को शाहरुख ने भी बखूबी पर्दे पर उतारा है। फिल्म के बाकी कलाकार भी अपने रोल के साथ इंसाफ करते हुए नजर आ रहे हैं।

निर्देशन:-

गौरी ने फिल्म की कहानी को बेहतरीन ढंग से पेश किया है। उन्होंने कायरा की भूमिका को बेहद शानदार ढंग से पर्दे पर उतारा है। साथ ही गोवा लोकेशन्स भी काफी ध्यान दिया गया है। फिल्म का अगर नेगेटिव हिस्सा देखा जाए तो इंटरवल के बाद इसकी गति कुछ धीमी लगती है।

क्यों देखे:-

फिल्म आपका मनोरंजन करने के साथ एक मैसेज भी देती है। यह फिल्म आपको जिंदगी जीने का एक नया तरीके सिखाने में जरूर कामयाह रहेगी। अगर आप कुछ अलग देखने के शौकीन हैं तो इस फिल्म को देखने जा सकते है।